शुक्रवार, 30 जुलाई 2010

छिछोरेपन की मुश्किलें!

जो ये कहते हैं, वो झूठ कहते हैं कि ज़िंदगी दूसरा मौका नहीं देती। मेरी तरह जवानी में लड़कियां छेड़ने की अगर आपकी भी हसरत अधूरी रह गई तो आप चाहें तो आगे चलकर लड़कियों की किसी टीम के कोच बन सकते हैं। आपके कोच बनने पर देश सोचेगा कि अब आप उसका गौरव बढ़ाएगा और आप सोचेंगे कि बरसों से जो न बन सकी, अब हम वो बात बनाएंगे। आप लड़कियों को कहना कि मुझसे घबराओ मत...मैं तुम्हारे बाप समान हूं और फिर उन्हें छेड़कर बताना कि ‘आपके यहां’ बाप कैसे होते हैं। आप बाप बन पाप करते जाना और टीम हारती जाएगी। देश सोचेगा कि आप सालों से खेल का शोषण कर रहे हैं और फिर एक रोज़ पता चलेगा कि आप खेल ही नहीं खिलाड़ियों का भी शोषण कर रहे थे। जिस कोच से ये उम्मीद की जाती थी कि विपक्षी खिलाड़ियों के खिलाफ रणनीति बनाएगा वो बाकायदा एक रणनीति के तहत अपनी ही खिलाड़ियों को पटाने में लगा था।

जो लोग छिछोरागिरी में स्पोर्टिंग करियर बनाने की सोच रहे हैं वो कुछ बातें अच्छे से समझ लें। अगर ब्लूलाइन बसों में सालों से लड़कियों को छेड़ ‘आनन्द’ लेने और कभी-कभार डांट खाने के आदी हैं, तो एक बात है मगर यही ‘करतब’ आप किसी बड़े मंच पर दिखाएंगे तो उसमें भारी रिस्क है। हो सकता है कि जवानी में लड़कियों की साइकिलों का पीछा करते-करते बड़े हो कर आप किसी महिला साइकिल टीम के कोच बन जाएं मगर आप उन लड़कियों को आगे निकलना भला कैसे सीखाएंगे जबकि आप खुद हमेशा से साइकिलों का पीछा करने के आदी रहे हैं। उसी तरह जिस शख्स के मन में महिलाओं को लेकर कुंठाएं भरी हैं वो महिला भारतोलन टीम को वज़न उठाना सीखाएगा या अपनी कुंठाओं का वज़न कम करेगा ये बताना भी मुश्किल नहीं है। यही त्रासदी है। तभी तो ‘ड्रैग फ्लिक सीखाने’ वाले लोग अपने सम्बन्ध ‘क्लिक’ करवाने में लग जाते हैं। खिलाने की बजाए उनसे खेलने लग जाते हैं।

8 टिप्‍पणियां:

Udan Tashtari ने कहा…

बहुत सटीक..छिछोरेपन की भला क्या उम्र. :)

कुश ने कहा…

छिछोरे लोग दरअसल हर जगह मिल जायेंगे.. सिर्फ खेलो के कोच ही नहीं हर डिपार्टमेंट में है ये लोग तो

Virender Rawal ने कहा…

dukhad ghatna ,
hamare yaha vaise hi khel doob rahe hai . upar se aise incident isko badtar kar rahe hain .

काजल कुमार Kajal Kumar ने कहा…

मानसिक विकृतियों का इलाज अलग से किया जाना ज़रूरी है यह केवल सांस्कृतिक मूल्यों का ही प्रश्न मात्र नहीं है.

रंजना ने कहा…

जबरदस्त खबर ली आपने....वाह !!!
काश कि लोग समझें...

रंजना ने कहा…

जबरदस्त खबर ली आपने....वाह !!!
काश कि लोग समझें...

Jas B ने कहा…

Well said!

kuchhkehnahai ने कहा…

Namaskar. Nijee upkaran k saath padarpan sweekaar ho.